एक्जिमा एक प्रकार का चर्म रोग (स्किन डिसीस) है। इस रोग में स्किन सूख जाती है और क्योंकि त्वचा की ऊपरी सतह पर नमी की कमी होने के कारण बार-बार खुजली करने का मन करता है। बॉडी में खुजली, एक्‍जिमा (खाज) होने के अलग – अलग कारण होते हैं। शरीर में खुजली होने की वजह चाहें जो भी हो लेकिन शरीर में तकलीफ होने से आपकी दिनचर्या पर गंदा असर पड़ता है। एक्जिमा (Eczema) सभी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है और इसके कारण दर्द भी होता है। आइये जानते हैं एक्जिमा के घरेलू उपचार के बारे में:

जैतून का तेल (Olive oil)

खुजली होने पर गुनगुने पानी से नहाएं और तुरन्‍त बाद किसी मॉइस्चराइजर या क्रीम इस्तेमाल करने की बजाय ऑलिव ऑइल यानि जैतून के तेल का इस्‍तेमाल करें। अच्‍छे से हल्‍के – हल्‍के मालिश करने पर खुजली वाली जगह में आराम मिलेगा।

हरड़

हरड़ को बारीक पीस लें। दो चम्‍मच हरड़ को दो गिलास पानी में उबाल कर रख लें। जहां भी खुजली हो, उस पानी को लगा लें कुछ देर में आराम मिल जाएगा।

एलोवेरा जेल का इस्‍तेमाल (use of Aloe Vera Gel)

एलोवेरा जेल एक नेचुरल हीलर की तरह काम करता है। एलोवेरा की पत्‍ती को काट लें और उसमें से निकलने वाले जेल को खुजली वाली जगह पर लगा लें। दिन में कम से कम चार से पांच बार ऐसा करने पर आपको आराम मिलेगा। साथ ही ठीक होने तक लगाने पर बाद में कभी खुजली नहीं होगी।

गेंदे का फूल इस्तेमाल करें (Use marigold)

गेंदे के फूल में एंटी बैक्टीरियल के साथ एंटी वायरल तत्व होते हैं जो चर्म रोग में लाभ देता है। गेंदे की पत्तियों को पानी में अच्छे से उबाल लें और दिन में तीन बार चर्म रोग से प्रभावित जगह पर लगाएं।

अलसी भी है मददगार (Linseed is also helpful)

पाचन में गड़बड़ी भी एक्जिमा को जन्म देती है ऐसे में अलसी आपकी काफी मदद कर सकती है। अलसी में मौजूद ओमेगा थ्री एसिड शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है जिससे चर्म रोग में आराम मिलता है। अलसी के तेल की 1 से 2 चम्मच का सेवन करें या फिर अलसी के बीजों का सेवन करें।

कपूर और चंदन भी हैं मददगार (Camphor and sandalwood are also helpful)

एक्जिमा के लिए फायदेमंद घरेलू उपचार के रूप में कपूर और चंदन भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके लिए 1 चम्मच कपूर और चंदन लें और फिर इनका एक पेस्ट बना लें। इसे लगाने से त्वचा की जलन को धीरे-धीरे कम किया जा सकता है और आप तुरंत राहत महसूस करेंगे।

नींबू और नारियल का तेल (Lemon and coconut oil)

नींबू तो हर घर में आराम से मिल जाता है। और यह काफी तरह से इस्तेमाल में भी लाया जाता है। यह शरीर को ठंडक देने वाला माना जाता है। आपको शरीर में जहां पर भी खुजली हो रही हो उस जगह पर नींबू और नारियल का तेल मिलाकर लगा लें। खुजली होने पर नारियल का तेल भी काफी फायदेमंद होता है। इससे ड्राईनेस भी नहीं होती और खुजली भी कम हो जाती है। लगाने के तुरंत बाद खुजलाएं नहीं। थोड़ी देर में आराम मिल जाएगा।

*इस बात का ध्यान रखें कि आप जो नारियल का तेल यूज़ कर रहे हैं वो बहुत अच्छी क्वालिटी का अर्थात शुद्ध हो।

खीरे का रस (Cucumber juice)

खीरे का रस खुजली से राहत दिला सकता है। खीरे को बारीक स्‍लाइस में काटकर दो घंटे के लिए रख दें। पूरा रस निकल जाने के बाद उसे छान लें और खुजली वाली जगह पर लगा लें। इसे लगाकर आपको जरूर आराम होगा।

गेंहू के आटे का लेप (Wheat flour paste)

गेंहू का आटा काफी फायदेमंद होता है। गेहूं के आटे का लेप करने से शरीर के सारे चर्म रोग दूर हो जाते हैं और खुजली में आराम मिलता है।

समुद्र के पानी में स्‍नान करें

कहा जाता है कि शरीर में खुजली होने पर समुद्र में नहाने से खुजली दूर चली जाती है। इसके पीछे कारण यह माना जाता है कि समुद्र के पानी में नैचुरल मिनरल्‍स होते हैं और प्‍योर सॉल्‍ट भी। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप घर में पानी में नमक मिलाकर नहाने लगें, ऐसा करने से आपकी त्‍वचा को और ज्‍यादा नुकसान होगा।