Tue. Sep 28th, 2021
    Neem Multani mitti face pack

    हेलो फ्रेंड्स,

    Advertisements

    हम सभी जानते हैं कि हमें अपना चेहरा साफ़, सुन्दर और चमकदार देखना बहुत पसंद हैं। लेकिन आजकल के बढ़ते प्रदूषण, अच्छे खानपान की कमी और ज़रूरत से ज्यादा केमिकल्स के उपयोग से हमारी स्किन पर झुर्रियाँ (wrinkles), झाईयाँ (fine lines), पिम्पल्स (pimples), और पिगमेंटेशन (pigmentation) का होना एक आम बात हो गयी हैं। आज हम जानेगे नीम और मुल्तानी मिट्टी के बहुत जबरदस्त फायदे जिनको जानकर आप हैरान हो जाएगे। आजकल कई तरह के फेशियल और क्रीम आपको पार्लर में ऑफर किये जाते हैं, लेकिन ये बहुत महंगे होते हैं जिन्हे आप चाहकर भी इस्तेमाल नहीं कर पाते। तो नीम के पेस्ट (neem paste) से घर पर आसानी से डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) बनाए।

    यहाँ पर आप जानेगे अपने चेहरे को साफ़, सुन्दर, चिकना और गोरा बनाने के लिए एक ऐसे डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) के बारे में जो अगर आपके चेहरे पर बहुत ज्यादा पिम्पल्स (pimples) हैं, ब्लैकहेड्स (blackheads) हैं, वाइटहेड्स (whiteheads) हैं तो उन सभी से छुटकारा दिलाने में आपकी बहुत मदद करेगा। अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा ऑयली (oily) है, चेहरे पर हमेशा तेल छाया रहता है, चेहरा हमेशा चिपचिपा दिखता रहता है तो इन सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी ये डीटॉक्सीफाईंग पैक बहुत अच्छा काम करेगा। आपके चेहरे के पिम्पल्स कम हो जाएगे, ब्लैकहेड्स कम हो जाएगे और बाईटहेड्स कम हो जाएगे और धीरे-धीरे पूरी तरह से ख़त्म हो जाएगे। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक के रेगुलर इस्तेमाल से आपका चेहरा साफ, सुन्दर, चिकना और गोरा बन जाएगा।

    नीम की पत्तियों का पेस्ट (Neem leaves paste)

    नीम की पत्तियां (Neem leaves) नैचुरली वन ऑफ़ दी बेस्ट एंटी-फंगल (anti-fungal) और एंटी-बैक्टीरियल (anti-bacterial) इंग्रीडिएंट मानी जाती हैं। ये आपके चेहरे पर होने वाले मुँहासे, ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स को ख़त्म करती हैं उन्हें मारती हैं जिससे कि आगे ये सब समस्याएं नहीं होती और आपको हमेशा के लिए इनसे छुटकारा मिलता है। इसके साथ ही नीम भी चेहरे से अनचाहे ऑयल (oil) को हटाती है, चेहरे का चिपचिपापन कम करती है, ओपन पोर्स (open pores) की अगर आपको समस्या है तो उन्हें अंदर से साफ़ कर टाइट (tight) करती है और आपके चेहरे को स्मूद (smooth) दिखाने में बहुत हेल्प करती है। नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाने के लिए फ्रेश नीम की पत्तियाँ तोड़ ले और उन्हें अच्छी तरह से धो लें इसके बाद मिक्सर में पीस कर उनका पेस्ट बना ले। अगर आपके आसपास नीम की पत्तियाँ नहीं मिल पा रही हैं तो आप नीम की सूखी पत्तियो का पाउडर भी इस्तेमाल कर सकते है जो की मार्केट में आसानी से मिल जाता है।

    मुल्तानी मिट्टी पेस्ट (Fuller’s earth paste)-

    आप सभी जानते होंगे मुलतानी मिट्टी पोर्स (pores) को टाइड करती हैं और उनको अंदर से साफ़ (clean) करती है। जो बैक्टीरिया पिम्पल्स होने की वजह से होते हैं उन्हें मारती हैं जिससे की पिम्पलस, ब्लैकहेड्स, वाइटहेड्स और ओपन पोर्स (open pores) की समस्या को ख़त्म करती हैं। ये उन लोगों के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होती हैं जिनकी स्किन हमेशा चिपचिपी और ऑयली दिखती है क्योकि ये चेहरे से अनचाहे ऑयल (oil) को खींच कर बाहर निकालती है और चेहरे को एक दम साफ़, सुन्दर और चमकदार बनाती हैं। मुल्तानी मिट्टी को इस्तेमाल करने के लिए अगर आप इसको गुलाब जल (Rose water) में भिगो कर इसका पेस्ट बना लेते है तो ज्यादा अच्छा है लेकिन अगर आपके पास गुलाब जल (Rose water) नहीं है तो आप सादा पानी (Normal water) में भी भिगो कर इसका पेस्ट बना सकते है।

    बेसन (Gram flour)

    बेसन नैचुरली डेड स्किन (dead skin) को हटाता है जिससे स्किन साफ़, गोरी और चमकदार दिखती हैं इसमें नैचुरली एंटी बैक्टीरियल (anti-bacterial) गुण भी होते है जिससे अगर आपकी स्किन पर ब्लैकहेड्स और मुंहासो की वजह से काले-निशान हैं तो उससे छुटकारा दिलाने में बहुत मददगार होता है। बेसन नैचुरली स्किन से अनचाहे ऑयल को हटाता है इसलिए ऑयली स्किन वालो के लिए बेसन हमेशा ही किसी न किसी तरह से इस्तेमाल करना चाहिए इसके अलावा ये बहुत अच्छी तरह से आपके चेहरे से डेड स्किन को हटाता है जिससे की अंदर से नई स्किन आती है और आपका चेहरा साफ़, सुन्दर और मुलायम दिखता हैं। बेसन मुरझाई हुई स्किन को ठीक करता हैं और उसमे नैचुरली चमक लाता है।

    इस डीटॉक्सीफाइंग पैक (detoxifying pack) को बनाने के लिए आपको चाहिए-

    1 चम्मच नीम की पत्तियों का पेस्ट

    1 चम्मच मुल्तानी मिट्टी पेस्ट

    1 चम्मच बेसन

    अब इन सभी चीज़ो को आपस में मिला ले और पेस्ट बनाने के लिए और इसकी कंसिस्टेंसी ऐसी रखने के लिए जिससे की ये आपकी त्वचा पर आसानी से लग जाए इसमें आप अगर आपकी स्किन ड्राई है तो आप इसमें दूध (milk) मिला सकते है और अगर आपकी स्किन ऑयली है तो इसमें गुलाब जल (rose water) मिला सकते है और दूध या गुलाब जल आपको इसमें इतना मिलाना है जिससे की ये आपके चेहरे पर लगाने लायक बन जाए और अच्छी तरह से आपके चेहरे और गर्दन पर लग जाए अब ये आपकी डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) बनकर बिलकुल तैयार है।

    उपयोग करने की विधि-

    सबसे पहले अपने चेहरे को साफ़ पानी से धो ले। इसके बाद अपने चेहरे और गर्दन पर पेस्ट को अच्छी तरह से लगा ले और कम से कम 30 मिनट के लिए ऐसे ही लगा रहने दे इसके बाद हलके गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो ले और आप जो भी मॉइस्चराइजर (moisturiser) इस्तेमाल करते है वो लगा ले और आप देखेंगे कुछ ही दिनों के रेगुलर इस्तेमाल से आपके चेहरे के पिम्पल्स कम हो जाएगे, ब्लैकहेड्स कम हो जाएगे और धीरे-धीरे पूरी तरह से ख़त्म हो जाएगे। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक को आप हफ्ते में 3 से 4 बार इस्तेमाल कर सकते हैं और फ्रीज में 8 दिनों तक स्टोर कर सकते हैं। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक के रेगुलर इस्तेमाल से आपकी स्किन साफ़, सुन्दर, चिकनी और गोरी बनेगी।

    By Caring You Online

    "Caring You Online" is a platform, where you can find all the information related to health, beauty, and personal care. All the content on this website is written and reviewed by a team of health care professionals.

    Leave a Reply