क्या है दाद (What is ringworm, daad kya he?)

दाद यानी की रिंगवर्म (ringworm, daad or tinea) एक चर्म रोग है। यह फंगल इन्‍फेक्‍शन की वजह से होता है। यह बीमारी व्यक्ति की हथेलियों, एड़ियों, सिर की त्वचा या स्कैल्प (scalp), जाँघों, अंडरआर्म्स या बगलों, दाढ़ी और शरीर के किसी भी भाग में हो सकती है। दाद शरीर के जिस भाग पर होता है उस भाग पर अत्यधिक खुजली होती है और जब व्यक्ति इसे खुजलाने लगता है तो यह और भी फैलने लगता है। गीलेपन, नमी और भीड़-भाड़ वाली जगह पर यह ज्‍यादा फैलता है। साथ ही यह संक्रमित इंसान से उसके सामानों को इस्तेमाल करने से फैलता है। यदि आपने उसकी कंघी, टॉवल या बेड़ इस्तेमाल कर लिया तो यह आप तक आराम से पहुंच जाएगा।

रिंगवर्म या दाद के लक्षण (Symptoms of ringworm infection)

अगर आपको शरीर पर लाल धब्बे दिखते हैं और खुजली होती है तो सावधान हो जाइए, ये दाद ही है अगर ये आपके नाख़ून पर हुआ तो आपका नाख़ून जड़ से निकल सकता है बालों की जड़ो मे हुआ तो आपके बाल उस जगह से झड़ सकते हैं। ये आपको बालों की जड़ो ,पैर ,अंदरुनी भागो में हो सकता है।

दाद का इलाज

दाद के इलाज के लिए हमेशा अपने शरीर को साफ़ रखें। शरीर को गीला न रहने दें हमेशा सूखा रखने की कोशिश करें। एंटी फंगल या मेडिकैटेट साबुन का प्रयोग करें शैम्पू का रोज़ाना इस्तेमाल करें। जहाँ तक हो सके कॉटन के कपडे पहनें। ज्यादा चुस्त कपडे ना पहनें। दूसरों के कपडे, टॉवल, बेड शीट, ब्रश का उपयोग ना करें। अगर किसी को ये इन्फेक्शन है तो उनसे दूरी रखें हाथ ना मिलाएं क्योंकि ये इन्फेक्शन फेलता है। अगर आपके घर मे कोई जानवर है और उसे ये इन्फेक्शन है तो उस पर पट्टी कभी ना बांधें और तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएँ । आईये आपको इससे छुटकारा पाने के कुछ उपाय बताते हैं

तुलसी का पेस्ट

तुलसी की 10-15 पत्तियाँ लेकर उनमें जरा सा नमक मिलाकर या तो हथेली पर ही पीस कर रस निकाल लें नही तो सिल पर पीसकर इस रस को दाद पर कुछ दिन लगाने से दाद जड़ से खत्म हो जाएगा।

नींम का पेस्ट (Neem Paste)

नीम  की पत्तियों को साफ़ कर उनका पेस्ट बना लें और दाद वाली जगह पर दिन में 3 से 4 बार लगायें।

आइये देखते हैं इस विडियो में एक ऐसी 100% नेचुरल और इफेक्टिव रेमेडी जो न सिर्फ आपको दाद के कारण होने वाली खुजली और जलन से राहत दिलाएगी बल्कि दाद को भी जड़ से मिटा देगी।

लहसुन से बनाए दाद की दवा

लहसुन में प्राकृतिक रूप से एंटी फंगल तत्व होते हैं। जो की कई तरीके के फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में सहायक है। जिसमे से दाद भी एक है। लहसुन को छीलकर उसके छोटे छोटे टुकड़े कर दाद पर रख दीजिये जल्दी आराम मिलेगा। ऐसा नियमित तौर पर करने से लाभ मिलेगा।

एप्पल साइडर विनेगर

कॉटन के टुकडे़ को एप्‍पल साइडर वेनिगर में डुबोएं और दाद वाली जगह पर दिन में 5 बार लगाएं। इसे हररोज़ तब तक लगाएँ जब तक कि दाग बिल्‍कुल गायब ना हो जाए।

नारियल का तेल

नारियल का तेल दाद को ठीक करने में बहुत उपयोगी है। ख़ास कर जब आपके सिर की जड़ो में इन्फेक्शन हुआ हो तो ये एक बहुत बेहतरीन तरीका है।

राई या सरसों के दानों से उपचार करें (Mustard seeds)

छोटे छोटे राई के दाने दाद को ठीक करने में सहायक है। राई को 30 मिनट तक पानी में भिगो कर रख दें। फिर उसका पेस्ट बनाकर दाद, खुजली पैदा करने वाली जगह पर लगा लें। आपको जरुर लाभ मिलेगा।

जोजोबा आयल और लेवेंडर आयल

ये दोनों ही तेल किसी भी प्रकार की हानि नहीं पहुंचाते। इस तेल को बच्‍चों के लिये खास प्रयोग किया जाता है। एक चम्‍मच जोजोबा आयल में एक बूंद लेवेंडर आयल की मिलाएं। फिर इसे कॉटन की मदद से प्रभावित हिस्‍से पर लगाएं।

हल्‍दी

एंटीबैक्‍टीरियल गुणों से भरी हल्‍दी बैक्‍टीरियल और फंगल इंफेक्‍शन को दूर करने में मददगार है। रूई की मदद से ताजी हल्‍दी का रस शरीर पर लगाएं। इसे दिन में 3 बार लगाइये और राहत पाइये।

एलोवेरा (Aloe Vera)

स्किन के किसी भी रोग को एलोवेरा ठीक कर सकता है। ऐलोवेरा जेल को शरीर पर लगाइये और रातभर उसे ऐसे छोड़ दीजिये। इसे सुबह धो लें। जब तक बीमारी ठीक ना हो जाए तब तक इसे लगाएं।

मूंग के छिलकों से दाद का इलाज

मूंग दाल की छिलके वाली दाल को दो घंटे क लिए पानी में भिगो दे। इसका बाद में पेस्ट बना लें। फिर दाद और खुजली वाली जगह पर लगाए, लाभ होगा।

करेले के पत्तों से भी उपचार करें

करेले के पत्ते के रस को दाद पर लगाने से लाभ होता है।

कुछ अन्य नुस्खे

*नींबू का रस और गुलाब का रस बराबर मात्रा में लेकर मिला लें। इस रस को हर रोज़ दाद पर लगाने से लाभ होता है।
*इमली के बीज को नींबू के रस में पीसकर लगाने से दाद में लाभ होता है।
*पुदीने के रस में नींबू मिलाकर लगाने से दाद मिट जाता है।
*पके केले के पल्प में नींबू का रस मिलाकर लगाने से दाद, खाज, खुजली जैसे रोगों में लाभ होता है।