जॉइंट पैन या जोड़ो का दर्द आजकल एक आम समस्या बन गया है। एक समय था जब एक उम्र के बाद जॉइंट पैन हुआ करता था और इसको बढ़ती उम्र की निशानी माना जाता था लेकिन आजकल की अव्यवस्थित जीवनशैली और अनुचित खान पान के कारण हर किसी के जोड़ो में दर्द की समस्या होने लगी है।
शरीर के ऐसे हिस्से जहां दो हड्डियां मिलती हों, जोड़ कहलाते हैं, जैसे घुटने (knee), कंधे (shoulder), कोहनी (elbow) आदि। जोड़ शरीर का अहम हिस्सा होते हैं जिनके कारण उठना-बैठना, चलना, शरीर को मोड़ना आदि संभव हो पाता है।
ऐसे मे जोड़ों में दर्द होने पर पूरे शरीर का स्वास्थ्य प्रभावित होता है। यह दर्द पैरों के घुटनों, गुहनियों, गदर्न, बाजुओं और कूल्‍हों में हो सकता है। एक्सरसाइज के अलावा पौष्टिक और हेल्‍दी खानपान आपके जोड़ के दर्द को कम कर के तुरंत आराम दिलाने में मदद करेगा।आइये जोड़ों के दर्द के घरेलू उपचार के बारे में जानते हैं:

मालिश करें (Massage)
शरीर के किसी भी दर्द में मालिश से बेहद आराम मिलता है, तो यही बात जोड़ों के दर्द में भी लागू होती है। यदि आपको अक्सर जोड़ों में दर्द बना रहता है तो नारियल, जैतून, सरसों या लहसुन के तेल से प्रभावित हिस्से की मालिश करें। हल्के हाथों से दबाव देते हुए दर्द वाले हिस्से को मलें। ऐसा करने से दर्द से राहत मिलेगी।

गर्म और ठंडी सिकाई (Cold and Hot Compress)
जोड़ों के दर्द से निजात के लिए गर्म और ठंडी सिकाई करने से भी बहुत आराम मिलता है। गर्म सिकाई करने से रक्त संचार बेहतर होता है वहीं ठंडी सिकाई से सूजन और चुभन कम होती है।

गर्म सिकाई के लिए गर्म पानी की बोतल को टॉवल में लपेट कर गर्दन की सिकाई करें। और ठंडी सिकाई करने के लिए बर्फ के टुकड़ों को टॉवल में लपेटकर, उस टॉवल से सिकाई करें। सिकाई करते वक्त कम से कम दो से तीन मिनट तक गर्दन की लगातार सिकाई होनी चाहिए। यह पूरी प्रक्रिया 15 से 20 मिनट में दोहराएं।

लहसुन (Garlic)
यदि जोड़ों में दर्द है तो लहसुन का इस्तेमाल आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसके औषधीय गुण गर्दन के दर्द, सूजन और जलन को ठीक करते हैं। लहसुन की दो कली हर सुबह खाली पेट पानी के साथ खाएं। खाना बनाने वाले किसी भी तेल में लहसुन की कुछ कलियां डाल कर भून लें। इस तेल को गुनगुना होने तक ठंडा करें और प्रभावित हिस्से की मालिश करें।

हल्दी (Turmeric)
हल्दी के स्वास्थ्य और सौन्दर्य को बनाए रखने वाले गुण किसी से छिपे नहीं है लेकिन अच्छी बात यह भी है कि यह जोड़ों के दर्द में भी उतनी ही प्रभावी है। हल्दी रक्त संचार तेज करके जोड़ों के दर्द से आराम देती है और गर्दन की अकड़न को भी कम करती है।

अदरक (Ginger)
जोड़ों के दर्द के इलाज के लिए अदरक भी बेहतरीन प्रभाव दिखाता है। यह हर्ब भी गुणों से भरपूर है जो कि रक्त संचार को तेज करती है जिससे गर्दन के दर्द से राहत मिलती है। एक दिन में लगभग तीन कप अदरक की चाय पिएं। अदरक की चाय बनाने के लिए पानी में अदरक उबालें और ठंडा करके इसमें शहद मिलाएं। और इसे पिएं। प्रभावित हिस्से की अदरक के तेल से मसाज भी की जा सकती है।

बबूल/कीकर और मेथी पाउडर का सेवन (Powder of Babul/Babbul/Babool/Keekar Tree or Indian gum Arabic Tree (Acacia Arabica) and Fenugreek Seeds)

बबूल या कीकर की फली को सुखाकर उसका पाउडर बना लें, इसमें इतनी ही मात्रा में मेथी दाने का पाउडर बनाकर मिला लें। अब दोनों चीज़ों को आपस में अच्छी तरह  मिला लें और इस पाउडर को सुबह- शाम लगभग 1 चम्मच गुनगुने पानी से सेवन करें।

बथुआ के ताजा पत्‍तों का रस (The juice of fresh leaves Bathua)
बथुआ के ताजा पत्‍तों का रस हर दिन 15 ग्राम पिएं। इसमें स्‍वाद के लिए कुछ भी न मिलाएं। खाली पेट पीने से ज्‍यादा लाभ होता है। तीन महीने पीने से दर्द से हमेशा के लिए निजात मिल जाती है।

एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar)
एप्पल साइडर विनेगर भी जोड़ों के दर्द से राहत देने में बहुत अच्छा असर दिखाता है। यह जोड़ों के दर्द और सूजन से राहत देता है। एप्पल साइडर विनेगरवमे किसी कपड़े को भिगोकर दर्द वाले स्थान पर लपेंटें और कुछ घंटों के लिए छोड़ दें। दिन में दो बार इस विधि को करें। गुनगुने पानी में 2 कप एप्पल साइडर विनेगर डालकर नहाया भी जा सकता है।

उड़द डाल का इस्तेमाल करें
काली उडद (करीब 10 ग्राम), बारीक पीसा हुआ अदरक (4 ग्राम) और पिसा हुआ कर्पूर (2 ग्राम) को खाने के तेल (50 मिली) में 5 मिनिट तक गर्म करें फिर इसे छानकर तेल अलग कर लें।

जब तेल गुनगुना हो जाए तो इस तेल से दर्द वाले हिस्सों या जोड़ों की मालिश, जल्द ही दर्द में तेजी से आराम मिलता है, ऐसा दिन में 2 से 3 बार करें। यह तेल आर्थरायटिस जैसे दर्दकारक रोगों में भी गजब काम करता है।

आलू का रस (Potato juice)
जोड़ों में दर्द होने पर हर दिन खाना खाने से पहले से दो आलूओं का रस निकाल लें और पिएं। हर दिन कम से कम शरीर में 100 मिली. रस पीने से आराम मिलेगा।

लाल मिर्च पाउडर (Red Chillie Powder)
लाल मिर्च पाउडर का नाम सुनते ही आपको आश्चर्य जरुर होगा लेकिन ये सच है लाल मिर्च पाउडर जोड़ों के दर्द से राहत देने में बहुत प्रभावी है। इससे आपको जरा सी जलन हो सकती है, लेकिन यह सच में बहुत असरदार उपचार है। उपचार के लिए एक कप नारियल के तेल को गरम करके, उसमें दो बड़े चम्मच लाल मिर्च पाउडर मिलाएं। इस मिश्रण से प्रभावित हिस्से पर लगाकर लगभग 20 मिनट के लिए छोड़ दें। ज्यादा आराम के लिए इस मिश्रण को प्रतिदिन दर्द वाले हिस्से पर लगाएं।

वजन को नियंत्रित रखें (Maintain your weight)
यदि आपका वजन नियंत्रण में रहेगा तो आपके जोड़ भी स्वास्थ्य रहेंगे। शरीर का ज्यादा वजन घुटनों और कमर पर अधिक दबाव डालता है, जिससे कार्टिलेज (cartilage) के टूटने का डर रहता है। ऐसे में वजन को नियंत्रण में रखना बेहद जरूरी है।

व्यायाम (Exercise)
जोड़ों के स्वास्थ्य के लिए व्यायाम को दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। तैराकी (swimming) भी जोड़ों के दर्द से राहत के लिए अच्छा व्यायाम होती है।

दूध पीएं (Drink milk)
जोड़ों को मजबूत रखने के लिए दूध जरूर पीएं। दूध से हड्डियों को कैल्शियम और विटामिन डी मिलता है जिससे हड्डियां मजबूत बनती हैं। यदि दूध पसंद न हो तो दूध से बने अन्य खाद्य पदार्थ जैसे पनीर, दही आदि भी खाए जा सकते हैं।