साफ़, सुन्दर और मुलायम पैर कौन नहीं चाहता। लेकिन इसके लिए जरूरी है की आपकी एड़ियां चिकनी और साफ़ रहें। एड़ियों का फटना एक आम बात है। फिर चाहे ये पैरों की साफ-सफाई में कमी, पैरों में नमी की कमी, सही देखभाल में कमी, खानपान ठीक न होना या फिर शुष्क हवा किसी भी कारण से ही क्यों न हुई हों, इनमें होने वाला दर्द काफी असहनीय होता है। कभी-कभी तो इनमें तेज़ दर्द के साथ खून भी आ जाता है, जो बेहद तकलीफदेह होता है। दर्द के साथ साथ दिखने में भी ये बहुत बुरी लगती हैं और आपके पैरों की सुंदरता को कम कर देती हैं।

आपका चेहरा कितना भी अच्छा क्यों न दिखे, पैर ऊपर से सुन्दर दिखें, लेकिन अगर एड़ियां फटी हुई हैं तो सब कुछ फीका हो जाता है। वैसे तो ये समस्या ज्यादातर ठंड के दिनों में होती है, लेकिन कुछ लोगों की एडियाँ हर मौसम में फटती हैं। आइये इस असहनीय दर्द से निजात पाने और एड़ियों को चिकना बनाने के कुछ घरेलू नुस्खों को जानते हैं:

ऑयल मसाज (Oil Massage for Cracked Heels)

तेल की चिकनाई एड़ियों को फटने से रोकेगी और फटी हुई एड़ियों को भरने में मदद करेगी। आप ऑलिव ऑयल या जैतून का तेल (olive oil), नारियल का तेल या तिल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। रात को सोने से पहले तेल से पैरों की मालिश करें और मोज़े डालकर सो जाएँ। एड़ियाँ कोमल हो जाएंगी।

नीम-तुलसी का इस्तेमाल करें (Neem and Basil Leaves for Cracked Heels)

यह फटी एड़ियों का एक सरल आयुर्वेदिक उपचार है, जो कि काफी पहले से चला आ रहा है। नीम की पत्तियों को पीसकर इसमें हल्दी मिला लें और फिर इसे एड़ियों पर लगा लें। यहाँ नीम के एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण अपना कमाल दिखाएँगे और आपकी एड़ियों को कोमल और खूबसूरत बनाएँगे।

विनेगर इस्तेमाल करें (Vinegar for Cracked Heels)

विनेगर में एसिटिक एसिड होता है, जिसे त्वचा पर लगाने से त्वचा कोमल हो जाती है। हालाँकि विनेगर या एसिटिक एसिड को सीधे अपने पैरों पर लगाना सही नहीं होगा। ऐसा करने से ये आपकी त्वचा को और भी ज्यादा शुष्क बना सकता है। विनेगर को पानी में मिलाएँ। इस पानी में 5 से 10 मिनट के लिए अपने पैरों को डुबोकर रखें। पैरों को साफ पानी से धोकर अच्छी तरह से थपथपा कर सुखा लें। इसके बाद मॉइस्चराइजर लगा लें। “इस प्रक्रिया को हफ्ते में 1 या 2 बार से ज्यादा ना दोहराएँ।”

नींबू (Lemon for Cracked Heels)

नींबू से फटी एड़ियों पर मौजूद सूखी त्वचा हटाने में मदद मिलती है। नींबू में एस्ट्रिंजेंट (Astringent) होता है, जो सूखी त्वचा को मुलायम करके अच्छे परिणाम देता है। गर्म पानी में नींबू का रस मिलाकर इसमें 10 मिनट तक पैरों को डालकर रखिये। इसके बाद प्यूमिक स्टोन की मदद से पैरों को साफ कर लीजिये।

एलोवेरा (Aloe Vera for Cracked Heels)

एलोवेरा हर एक तरह से स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। इसका एंटी-बैक्टीरियल गुण डायबिटीज के रोगी के पैरों की दरारों में मौजूद बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है। 2 चम्मच एलोवेरा जैल में 1 चम्मच हल्दी, 1 चम्मच तुलसी की पत्तियों का पेस्ट और 1 चम्मच कपूर का पाउडर मिलाएँ। इस पेस्ट को 10 से 15 मिनट के लिए पैरों पर लगाकर रखें और फिर गुनगुने पानी से धो लें। आप चाहें तो सिर्फ एलोवेरा जैल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

पेट्रोलियम जैली (Petroleum Jelly for Cracked Heels)

पेट्रोलियम जैली की चिकनाई फटी एड़ियों को भरने में मदद करती है। रात को सोने से पहले पैरों को अच्छी तरह साफ़ करके इनमें पेट्रोलियम जैली लगा लें फिर मोज़े पहनकर सो जाएँ। इससे एडियाँ कोमल हो जाएंगी।

आइये जानते हैं 100% असरकारी, होम मेड क्रीम जिसके रेगुलर इस्तेमाल से आप पा सकते/ती हैं फटी एड़ियों से छुटकारा, दर्द से राहत और सुन्दर पैर!

शहद (Honey for Cracked Heels)

शहद एक बहुत अच्छा मॉइश्चराइजर है, जो पैरों को हाइड्रेट रखता है। पानी में आधा कप शहद मिलाकर उसमें 20 मिनट तक पैर को डुबोकर रखें। फिर टॉवल से थपथपा कर पैरों को सुखा लें। इससे आपके पैर मुलायम हो जाएँगे।

चावल का आटा (Rice Flour for Cracked Heels)

फटी एड़ियों से मृत त्वचा (dead skin) को निकालने के लिए चावल के आटे को एक स्क्रब की तरह इस्तेमाल किया जाता है। स्क्रब बनाने के लिए 3 चम्मच (tbs) चावल के आटे में 2 चम्मच (tbs) शहद, 1 चम्मच (tbs) एप्पल साइडर विनेगर,  ऑलिव ऑयल (olive oil) या बादाम तेल (almond oil) की कुछ बूँदें मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें। अब गर्म पानी में 15 से 20 मिनट तक अपने पैरों को डालकर रखें। फिर टॉवल से अच्छी तरह से रगड़ कर इन्हें सुखा लें। इस तरह रगड़ने से पैरों की मृत कोशिकाएं निकल जाएंगी। अब तैयार किये हुए पेस्ट को धीरे-धीरे एड़ियों पर लगाएँ। कुछ वक़्त मालिश करने के बाद इसे गुनगुने पानी से धो दें। ऐसा नियमित रूप से तब तक करें जब तक कि आपके पैरों की दरारें पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाती।

ग्लिसरीन और गुलाबजल (Use Glycerin and Rose Water for Cracked Heels)

ग्लिसरीन सबसे अच्छा और सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाना वाला मॉइस्चराइजर है और इसमें त्वचा को मॉइस्चराइज करने के गुण पाए जाते हैं। ग्लिसरीन को गुलाबजल में मिलाकर पैरों और एड़ियों पर लगाएँ और बिना दरारों की कोमल एडियाँ पायें।

फलों का इस्तेमाल करें (Fruits for Cracked Heels)

फलों में ऐसे बहुत सारे एंजाइम और तत्व मौजूद होते हैं, जो पैरों की दरारें भरने के लिए काफी उपयोगी होते हैं। फल जैसे कि केला (banana), अनानास (pineapple), एवोकैडो (avocado), पपीता (papaya) आदि से एक पेस्ट तैयार करें और इसे एड़ियों पर लगाएँ। फटी हुई एड़ियों से छुटकारा पाने का यह एक बेहद आसान तरीका है।

आप चाहें तो एक केले को मैश कर उसमें 1 चम्मच शहद मिलायें, और इस पेस्ट को एड़ियों पर लगा सकते हैं या फिर केले को एवोकैडो के साथ मैश करके भी लगा सकते हैं।

पपीता फटी हुई एड़ियों को ठीक करने में बहुत प्रभावकारी है। अच्छा पका पपीता लें और इसका पेस्ट बनायें। लगभग 5 मिनिट के लिए दोनों पैरों की एड़ियों पर इसे रगड़ें। ऐसा तब तक करें जब तक आपकी एड़ियां ठीक नहीं हो जाती।