वैसे तो धनिया पत्ती और धने के पाउडर का इस्तेमाल ज्यादातर सब्जियों का स्वाद बनाने, सलाद या सूप को सजाने के लिए किया जाता है। लेकिन इसके अलावा धनिया अपने औषधीय गुणों के लिए भी जाने जाते है। इनमें भारी मात्रा में पोटेशियम, आयरन, विटामिन A, K, और C, फ़ॉलिक एसिड, मैग्नीशियम और कैल्शियम पाया जाता है, जो बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों में आराम दिला सकते हैं। आइये जानते हैं किस तरह से ये धनिया के बीज (Coriander Seeds) या जिसे खड़ा धनिया के नाम से भी जाना जाता है, हमारे स्वास्थ्य, त्वचा और बालों पर असर दिखाते हैं:

डायबिटीज और कोलेस्ट्रोल कम करे (How to Control Blood Pressure, Diabetes and Cholesterol Levels with Coriander Seeds)

हमारे देश में लगभग हर एक दूसरा इंसान डायबिटीज का मरीज़ है, तो ऐसे में हर कोई इससे निपटने के घरेलूनुस्खों के बारे में जानना चाहता होगा। खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स ब्लड में शुगर के लेवल पर अपनी नजर बनाए रखते हैं। इसमें मौजूद विटामिन C इसे कोलेस्ट्रोल कम करने में निपुण बनाते हैं। इसके साथ ही धने में मौजूद एसिड्स, जैसे कि लिनोलिक एसिड (linoleic acid), ओलिक एसिड (oleic acid), पल्मिटिक एसिड (palmitic acid) और स्टारस एसिड (stearic acid) ब्लड कोलेस्ट्रोल लेवल को कम करने में काफी असरदार हैं। ये नसों में और शरीर में छिपे हुए बैड कोलेस्ट्रोल (LDL) को भी जड़ से खत्म करता है, ये LDL आगे जाकर हार्ट अटैक और स्ट्रोक का कारण बन सकते हैं।

डायरिया को खत्म करे (Coriander Seeds to Treat Diarrhea)

खड़ा धनिया में पाए जाने वाले एसेंशियल ऑयल्स जैसे कि बर्नोल और लिनलूल (Borneol and Linalool) डाइजेशन में सुधार ला सकते हैं, लीवर की कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चला सकते हैं और इसके साथ ही डायरिया को भी खत्म कर सकते हैं। इसके साथ ही यह माइक्रोबियल और फंगल कि वजह से होने वाले डायरिया से भी आपको बचाता है और इसकी वजह इसमें मौजूद तत्व सिनेओल (Cineole), बर्नोल (Borneol), लिनलूल (Linalool) अल्फा पाइनीन (Alpha-pinene) और बीटा पाइनीन ( Beta-pinene) के कारण उत्पन्न एंटी-बैक्टीरियल इफ़ेक्ट है। यह मितली आने (nausea) और पेट की अन्य बीमारियों पर भी असरदार है।

ब्लडप्रेशर कंट्रोल करे (Coriander Seeds to Control Blood Pressure)

खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स के सेवन का ब्लडप्रेशर पर अच्छा खासा प्रभाव देखने को मिला है। इसमें मौजूद कैल्शियम आयन और कोलीनर्जिक (cholinergic) मिलकर रक्तवाहिकाओं के तनाव (blood vessel tension) को कम करते हैं और हार्ट अटैक और स्ट्रोक की संभावना को भी कम करते हैं।

सर्दी जुकाम से सुरक्षा करे (Coriander Seeds to Protect From Cold)

खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स में प्रचुर मात्रा में विटामिन A, विटामिन C फोलिक एसिड और बीटा-कैरोटीन (beta-carotene) मौजूद होते हैं, जो कि सर्दी जुकाम से हमारी सुरक्षा करते हैं।

थायरॉइड कंट्रोल करने के लिए साबुत धनिया का सेवन (Coriander Seeds For Thyroid)

लगभग 2 चम्मच साबुत धनिया या धनिया के बीज (Coriander Seeds) रात को लगभग आधा गिलास पानी में भिगो दें। सुबह इस धनिया को पानी समेत 5 मिनिट के लिए उबालें और फिर छानकर यह पानी गुनगुना पी जायें। अगर आप थायरॉइड कंट्रोल करने के लिए दवा ले रहे हैं तो सबसे पहले खाली पेट अपनी दवा लें और फिर 30 मिनिट बाद यह पानी पियें और इसके 30 से 45 मिनिट बाद आप नाश्ता करें। अगर आप चाहें तो इसे दिन में दो बार खाली पेट भी ले सकती हैं। यह थायरॉइड को कंट्रोल करने में बहुत लाभकारी है। लगभग 30 से 45 दिनों तक नियमित सेवन करने के बाद अपना थायरॉइड लेवल फिर से चैक करायें।

आइये जानते हैं एक ऐसी रेमेडी जो खड़ा धनिया (Coriander Seeds) को उपयोग कर बनाई जाती है और एक साथ कई बीमारियों मोटापा (obesity), जॉइंट पेन (Joint pain), थाइरोइड (Thyroid), डायबिटीज (Diabetes) में फायदेमंद होती है।



एनीमिया से बचाए (Cure Anemia with Coriander Seeds)

खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स में मौजूद आयरन की प्रचुरता एनीमिया से जूझ रहे मरीजों की मदद करता है। आयरन की कमी से साँस की तकलीफ, दिल की धड़कन पर असर, अत्यधिक थकान और दिमागी कार्यों में कमी आती है। आयरन ऊर्जा और ताकत बढ़ाने के साथ ही हड्डियों को मजबूत भी बनाता है।

आँखों का ध्यान रखे (Take Care of Your Eyes with Coriander Seeds)

खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स में एंटीऑक्सीडेंट्स, विटामिन A, विटामिन C और फॉस्फोरस जैसे मिनरल्स पाए गए हैं, जो कि दृष्टि सम्बंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सक्षम हैं। इसके साथ ही ये आँखों पर पड़ने वाले तनाव और खिंचाव को भी कम करते हैं। धने की पत्तियों (हरा धनिया) में बीटा कैरोटीन की उपस्थिति आँखों में होने वाले अन्य विकारों को दूर करती है और बढ़ती उम्र में दृष्टि भी सही बनाए रखती है।

मासिक धर्म की अनियमितता को कम करे (Regularize Menstrual Cycle with Coriander Seeds)

ऐसी महिलाऐं जिन्हें पीरियड्स के वक़्त बहुत ज्यादा परेशानी होती है उन्हें धने को अपनी डाइट में शामिल कर लेना चाहिए। धने के बीज नैचुरल स्टिमुलेटर की तरह कार्य करते हैं, जो आपकी एंडोक्राइन ग्लैंड (endocrine gland) को प्रभावित करता है, जिससे कि आपका हार्मोनल बैलेंस बना रहे। इसकी वजह से पीरियड्स में होने वाले असहनीय दर्द से राहत मिलती है।

सुन्दरता रखे बरक़रार (Helps to Maintain Beauty)

एक स्टडी के मुताबिक खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स त्वचा संबंधी रोग जैसे कि त्वचा में खुजली, रैशेस, सूजन, फंगल इंफेक्शन और जलन से निजात दिलाने में कारगर हैं। और इसका कारण इसमें मौजूद एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल और एंटीओक्सीडेंट गुण हैं। ये किडनी की समस्या के कारण या फिर एनीमिया के कारण होने वाली सूजन से भी राहत दिलाती है। धनिया के बीज बालों के झड़ने को भी रोकते हैं और इसके साथ ही नए बालों को उगने में मदद करते हैं।

आखिर में!!!

वैसे तो अभी तक खड़ा धनिया या कोरिएंडर सीड्स के कोई विपरीत प्रभाव नहीं देखे गए हैं, लेकिन फिर भी प्रेगनेंट महिलाओं को उचित सलाह पर ही इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है।