मुंहासे होना टीनएज की एक भारी समस्या है। तमाम कोशिशों के बावजूद कई बार चेहरे पर पिंपल्स यानी मुंहासे हो जाते हैं। ये मुंहासे भले ही चेहरे पर एक हफ्ते से ज्यादा न रहते हों, पर जाते-जाते चेहरे पर कुछ गहरे निशान छोड़ जाते हैं, जो देखने में काफी खराब भी लगते हैं। फिर इन पर चाहे जितनी भी अच्छी महंगी क्रीम का इस्तेमाल कर लिया जाए, ये जैसे के तैसे बने रहते हैं। वैसे तो कभी-कभी मुँहासों के दाग, अपने आप ही कुछ महीनों में साफ़ हो जाते है, लेकिन इन्हे जल्दी साफ़ करने के लिए आप कुछ उपाय कर जरुर कर सकते हैं। आइये जानते हैं मुँहासे के निशान के इलाज के लिए घरेलू उपाय:

टमाटर (Tomato for erasing dark spots) 

विटामिन C और एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर, टमाटर का रस चमक और दोषमुक्त त्वचा बनाने के लिए कारगर है। टमाटर मुँहासे ठीक करने में व धूप के कारण होने वाली टैनिंग को कम करने में बेहद मददगार साबित होता है। टमाटर के रस में एक चम्मच नींबू का रस मिलाए। फिर पूरे चेहरे मे लगाए और 20 मिनिट के बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो लें।

प्याज (Onions to lighten acne marks)

प्याज मे प्रतिरोधक गुण होते है जो मुँहासों के दाग धब्बे दूर करने मे आपकी मदद करेगे। एक प्याज लें फिर उसका रस निकालकर धब्बों पर लगाए। कुछ मिनिट तक रहने दे फिर पानी से धो लें।

आलू का रस (potato juice to treat acne scars)

आलू के रस में भरपूर मात्रा में स्टार्च होता है जो आंखों के नीचे होने वाले काले घेरों को और कील-मुँहासों को कम करता है। एक छोटे आलू को छीलकर उसका रस निकाल लें। रूई को उस रस में भिगोकर अपनी त्वचा पर लगाएं। 15-20 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें। फिर साफ पानी से धो लें। इसका नियमित इस्तेमाल करने से दाग गायब हो जाएँगे।

नींबू का रस लगाएं (lemon juice for the treatment of acne scars)

नींबू में ब्लीचिंग के नैचुरल गुण होते हैं, जिनसे मुहासों के दाग फीके हो जाते हैं। समान मात्रा में नींबू का रस और पानी मिलाकर, इस मिश्रण को सिर्फ अपने धब्बों पर लगाएं। 15-20 मिनट के बाद धो लें। अगर इसे लम्बे समय तक त्वचा पर छोड़ा जाए, तो त्वचा जल भी सकती है। नींबू के रस में बर्गप्टेन (Bergapten) नामक रसायन होते हैं जो डीएनए में मिलकर त्वचा को नुकसान पहुँचाते हैं। इसलिए इसे सावधानी से प्रयोग करें और कम समय के लिए प्रयोग करें। नींबू के रस से त्वचा सूख जाती है। इसलिए, इसे धोने के बाद तुरंत क्रीम लगाएं।

बेकिंग सोड़ा (use baking soda For the treatment of acne scars)

बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल से त्वचा के दाग धब्बों को कम किया जा सकता है। 1 छोटा चमच्च बेकिंग सोड़ा को 1 छोटे चमच्च पानी में मिलाकर घोल तैयार करें। इसे अपने चेहरे पर 2 मिनट तक लगाकर रखें। गुनगुने पानी से चेहरे को धोलें और अच्छे से पोंछ लें। यह एक जाना माना नुस्खा है, लेकिन इसे पहले थोड़े समय के लिए प्रयोग करें और फिर धीरे धीरे समय बढ़ाएं। आप बेकिंग सोड़ा का इस्तेमाल जरुरी मौके पर कर सकते हैं। इसे अपने धब्बों पर 10-15 मिनट तक लगाकर चेहरा धो लें।

चंदन (Sandalwood for erasing pimple scars)

2 चम्मच चंदन पाउडर ले, उसमे कुछ बूंदे गुलाबजल की मिलाएँ। फिर दाग पर और पूरे चेहरे पर लगा लें। अच्छी तरह सूखने के बाद इसे धो ले।

हल्दी और नीबू के रस (Turmeric and lemon juice for acne marks)

चुटकी भर हल्दी पाउडर लें। उसमे कुछ बूंदे नींबू के रस की मिलाएँ। फिर इसे दाग पर या पूरे चेहरे पर लगाएँ। कुछ ही हफ़्तो के अंदर दाग दूर हो जाएँगे और त्वचा चमकने लगेगी।

छाछ (Buttermilk for fading marks and spots)

छाछ मे लैक्टिक एसिड होता है जो की अल्फा हाइड्रॉक्सिल एसिड की तरह काम करता है। यह एक प्रकार का नैचुरल एसिड है जो चेहरे की मृत त्वचा, धूल और तेल को निकालता है। एक कटोरी मे छाछ लें। फिर इसे रूई की मदद से दाग पर लगाएँ। अगर चाहें तो आधी मात्रा मे नीबू का रस भी मिला कर मास्क की तरह भी उपयोग सकते है।

दूध (Raw milk to lighten spots)

दूध चेहरे की रंगत बढ़ाता है, दूध मे लैक्टिक एसिड होता है जो त्वचा को कोमल और सुंदर बनाता है। इसके लिए कच्चे दूध का उपयोग करें। दूध मे रूई भिगोकर पूरे चेहरे पर लगाएँ। फिर 15 मिनिट के बाद गर्म पानी से धो लें। दाग हटाने के लिए हर रोज सुबह ऐसा करें।

एलोवेरा (Use aloe vera to treat acne scars)

एलोवेरा जेल त्वचा की नई कोशिकाओं का विकास करता है और कील-मुँहासे की समस्या से छुटकारा दिलाता है। ताजा एलोवेरा का जेल निकालकर उसे अपने चेहरे पर लगाएं। सूखने के बाद धो लें। या फिर दो चम्मच एलोवेरा जेल में नींबू का रस और चीनी का मिश्रण तैयार करें। त्वचा पर धीरे-धीरे मसाज करें, 15 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें और फिर पानी से धो दें। हफ्ते में ऐसा 2-3 बार करने से आपकी दाग धब्बों की समस्या खत्म हो जाएगी।