हजारों वर्षों से अश्वगंधा का इस्तेमाल एक ऐसी चमत्कारी औषधि के रूप में होते चला आ रहा है, जो शरीर के लिए काफी लाभदायक है। इसमें फ्लेवेनॉइड और एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई लाभदायक तत्व मौजूद हैं। इसका इस्तेमाल ना सिर्फ भारत में बल्कि नेटिव अमेरिकन और अफ्रीकन भी करते आ रहे हैं। यह याददाश्त शक्ति में सुधार लाने के साथ-साथ मनुष्य के मन को साफ रखती है। यौन रोगों/समस्याओं के लिए तो अश्वगंधा को रामबाण इलाज माना गया है।

अश्वगंधा जिसे भारतीय जिनसेंग भी कहते हैं, यह एक औषधीय पौधा है जो भारत (मंदसौर म.प्र,, पंजाब, सिंध, गुजरात और राजस्थान) के साथ-साथ दक्षिण एशिया और उत्तरी अमेरिका में पाया जाता है। इसकी जड़ों का इस्तेमाल दवाइयां बनाने में किया जाता है। आइये जानते हैं कि ये एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटी-एजिंग और एंटी-कैंसर (Anti-Carcinogenic Properties) गुणों से भरपूर अश्वगंधा आपके स्वास्थ्य के लिए कैसे लाभदायक है:

अवसाद दूर करने और स्मरण शक्ति बढ़ाने में (Ashwgandha for Relieve depression and improve memory)

ऐसे कई प्रमाण मौजूद हैं जिनसे यह माना जा सकता है कि अश्वगंधा को खाने के साथ लेने से या फिर इसके पाउडर को लंबी-लंबी सांसों के साथ सूंघने मात्र से अवसाद और तनाव को दूर किया जा सकता है। यह दिमागी शक्ति, स्मरण शक्ति को बढ़ाने और मन को शांत रखने में भी काफी मददगार साबित हुआ है। चूँकि अश्वगंधा मन को शांत करता है और आरामदायक नींद को बढ़ावा देता है इसी कारण इसे को हल्के शामक के रूप में भी जाना जाता है।

डायबिटीज में और हाई ब्लडप्रेशर में (Ashwagandha for Diabetes and High Blood Pressure)

अश्वगंधा में ब्लड शुगर के लेवल को कम करने के गुण पाए गए हैं। इसके पाउडर के सेवन से कोलेस्ट्रोल भी कम होता है और डायबिटीज से भी राहत मिलती है। इसके सेवन से ब्लडप्रेशर में भी कमी आती है। हालाँकि इसमें मौजूद गुण के कारण लो ब्लडप्रेशर वाले लोगों को इसके सेवन से दूर ही रहना चाहिए।

कामोत्तेजना बढ़ाने, पुरुषों में नपुंसकता को कम करने और सेक्स संबंधी समस्याओं में (Ashwagandha for Estrus Stimulation, Impotency Treatment and sex related problems)

अश्वगंधा एक प्रकार से कामोत्तेजक (Stimulator) की भूमिका निभाता है और अभी तक इसका कोई साइड इफ़ेक्ट भी सामने नहीं आया है। इसमें ऐसे-ऐसे गुण होते हैं जो शरीर को ऊर्जा और स्फूर्ति प्रदान करते हैं। यह सेक्स पॉवर बढ़ाता है। यह एजिंग को रोकने के साथ ही आयु को भी बढ़ाता है। अश्वगंधा पाउडर को दूध के साथ पीने से शरीर पुष्ट हो जाता है।

शीघ्रपतन, पुरुषों में नपुंसकता, सेक्स संबंधी समस्याओं से छुटकारा, Man’s Health, How to Stop Premature Ejaculation, Libido, Infertility, Low Sperm Count

कैंसर और ट्यूमर से छुटकारा दिलाये (Ashwagandha for Cancer and Tumor)

अश्वगंधा की जड़ में मौजूद अल्कोहल शरीर में कोई भी टोक्सिंस पदार्थ नहीं बचने देती और ट्यूमर को बढ़ने से भी रोकती है। इसमें कैंसर के ट्यूमर को रोकने की भी पर्याप्त क्षमता पाई गई है। यह कैंसर और ट्यूमर दोनों से ही छुटकारा दिलाने में कारगर साबित है।

आँखों की रौशनी बढाए (Ashwagandha for Eye Sight)

यदि अश्वगंधा को समान मात्रा में मुलेठी और आंवला पाउडर के साथ मिलाकर नियमित रूप से इसका सेवन किया जाए, तो इससे आँखों की रौशनी बढ़ सकती है।

पर्किसंस की बीमारी के लिए (Ashwagandha for Parkinson’s Disease)

पर्किसंस एक तरह की दिमागी बीमारी है। इसमें मस्तिष्क तक संकेत देने वाले न्यूरोन्स नष्ट हो जाते हैं और इसका मरीज़ दिमागी रूप से कमजोर हो जाता है। इसकी वजह से वो अपने शरीर पर कंट्रोल नहीं रख पाता। स्टडी के मुताबिक अश्वगंधा के सेवन से यह बीमारी कम हो जाती है और मस्तिष्क में वापस न्यूरोन बनने लगते हैं।

और भी कई बीमारियों पर है असरदार:

*कफ खांसी और दमा में
*टीबी (Tuberculosis)
*पाचन तंत्र मजबूत करे
*लीवर की बीमारी
*सूजन कम करे
*रोग प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाने में (Increasing Immune System)
*ल्यूकोरिया में
*आलस दूर भगाए
*अल्जाइमर के इलाज में

ध्यान रखें!!!

यह शरीर के लिए जितना फायदेमंद है उतने ही इसके विपरीत प्रभाव भी हैं। इन समस्याओं से बचने के लिए डॉक्टर की सलाह पर और उचित मात्रा में ही अश्वगंधा का सेवन करें। गैस की समस्या वाले लोगों और प्रेगनेंट महिलाओं को इसके सेवन से बचना चाहिए।