अगर आपकी आवाज़ बैठ गई हो, आपको गले में अत्यधिक खराश हो या फिर सीने में पुराना बलगम फँसा हो तो मुलैठी और दालचीनी की हर्बल चाय बनाकर पीयें। यह चाय गले में फँसी म्यूकस को तोड़ती है जिससे गले में खराश से आराम मिलता है और बलगम से भी छुटकारा मिलता है। इस हर्बल टी को बनाने के लिए लगभग एक गिलास पानी में एक चम्मच मुलैठी का चूर्ण और लगभग 1/2 चम्मच दालचीनी (पीसी हुई) मिलायें। पानी को अगले 10 मिनिट तक अच्छी तरह उबालें और फिर छानकर धीरे धीरे पियें। आप चाहें तो इसमें स्वाद बढ़ाने के थोड़ी मिश्री या शहद भी मिला सकती/ते हैं।