Thu. Oct 21st, 2021

    हेलो फ्रेंड्स,

    Advertisements

    हर कोई चाहता हैं कि उसका चेहरा साफ़, सुन्दर और चमकदार दिखे। लेकिन आजकल के बढ़ते प्रदूषण, अच्छे खानपान की कमी और ज़रूरत से ज्यादा केमिकल्स के उपयोग से हमारी स्किन पर झुर्रिया, पिम्पल्स, फाइनलाइन्स और पिगमेंटेशन का होना एक आम बात हो गयी हैं।

    आजकल कई तरह के फेशियल और क्रीम आपको पार्लर में ऑफर किये जाते हैं, लेकिन ये बहुत महंगे होते हैं जिन्हे आप चाहकर भी इस्तेमाल नहीं कर पाते। तो नीम के पेस्ट से घर पर आसानी से डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) बनाये। 

    यहाँ पर आप जानेगे अपने चेहरे को साफ़, सुन्दर, चिकना और गोरा बनाने के लिए एक ऐसी डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) जो अगर आपके चेहरे पर बहुत ज्यादा पिम्पल्स (pimples) हैं, ब्लैकहेड्स (blackheads) हैं, वाइटहेड्स (whiteheads) हैं तो उन सभी से छुटकारा दिलाने में आपकी बहुत मदद करेगा। अगर आपकी स्किन बहुत ज्यादा ऑयली (oily) हैं, चेहरे पर हमेशा तेल छाया रहता हैं, चेहरा हमेशा चिपचिपा दिखता रहता हैं तो इन सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी ये डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) बहुत अच्छा काम करेगा। आपके चेहरे के पिम्पल्स कम हो जाएगे,  ब्लैकहेड्स कम हो जाएगे और बाईटहेड्स कम हो जाएगे और धीरे-धीरे पूरी तरह से ख़त्म हो जायगे। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) के रेगुलर इस्तेमाल से आपका चेहरा साफ, सुन्दर, चिकना और गोरा बन जाएगा।

    नीम की पत्तियों का पेस्ट या नीम पेस्ट (Neem leaves paste)-

    नीम की पत्तियों का पेस्ट

    नीम की पत्तियां (Neem leaves) नैचुरली वन ऑफ़ दी बेस्ट एंटी-फंगल (anti-fungal) और एंटी-बैक्टीरियल (anti-bacterial) इंग्रीडिएंट मानी जाती हैं। ये आपके चेहरे पर होने वाले मुँहासे (pimples), ब्लैकहेड्स (blackheads) और वाइटहेड्स (whiteheads) को ख़त्म करती हैं उन्हें मारती हैं जिससे कि आगे ये सब समस्याएं नहीं होती और आपको हमेशा के लिए इनसे छुटकारा मिलता हैं इसके साथ ही नीम (Neem) भी चेहरे से अननेसेसरी ऑयल (oil) को हटाती हैं, चेहरे का चिपचिपापन कम करती हैं, ओपन पोर्स (open pores) की अगर आपको समस्या हैं तो उन्हें अंदर से साफ़ कर टाइट (tight) करती हैं और आपके चेहरे को स्मूथ (smooth) दिखाने में बहुत हेल्प करती हैं। नीम की पत्तियों का पेस्ट (Neem leaves paste) बनाने के लिए फ्रेश नीम की पत्तिया तोड़ ले और उन्हें अच्छी तरह से धो लें इसके बाद मिक्सर में पीस कर उनका पेस्ट बना ले। अगर आपके आसपास नीम की पत्तिया नहीं मिल पा रही हैं तो आप नीम की सूखी पत्तियो का पाउडर भी इस्तेमाल कर सकते हैं जो की मार्केट में आसानी से मिल जाता हैं।

    मुल्तानी मिटटी (Fuller’s earth)-

    मुल्तानी मिट्टी

    आप सभी जानते होंगे मुलतानी मिटटी (Fuller’s earth) पोर्स (pores) को टाइड करती हैं और उनको अंदर से साफ़ (clean) करती हैं। जो पिम्पल कॉसिंग बैक्टीरिया (pimple causing bacteria) होते हैं उन्हें मारती हैं जिससे की पिम्पलस (pimples), ब्लैकहेड्स, (blackheads), वाइटहेड्स (whiteheads) और ओपन पोर्स (open pores) की समस्या को ख़त्म करती हैं। ये उन लोगों के लिए भी बहुत ज्यादा फायदेमंद होती हैं जिनकी स्किन हमेशा चिपचिपी और ऑयली दिखती हैं क्योकि ये चेहरे से अननेसेसरी ऑयल (oil) को खींच कर बाहर निकालती हैं और चेहरे को एक दम साफ़, सुन्दर और चमकदार बनाती हैं। मुल्तानी मिटटी (Fuller’s earth) को इस्तेमाल करने के लिए अगर आप इसको गुलाबजल (Rosewater) में भिगो कर इसका पेस्ट बना लेते हैं तो ज्यादा अच्छा हैं लेकिन अगर आपके पास गुलाबजल (Rosewater) नहीं हैं तो आप सादा पानी (Normal water) में भी भिगो कर इसका पेस्ट बना सकते हैं।

    कॉफ़ी पाउडर (Coffee powder)-

    कॉफ़ी पाउडर

    कॉफ़ी (Coffee) एक बहुत ही अच्छे स्किन डिटॉक्सीफाए (detoxify) एजेंट की तरह काम करती हैं आपके चेहरे की सारी गंदगी निकाल कर बाहर करती हैं, ओपन पोर्स  (open pores) को डीपली क्लीन करती हैं, पोर्स के अंदर जमे मैल, तेल और गंदगी को बाहर निकाल कर उनको श्रिंक करती हैं मतलब अगर ओपन पोर्स की समस्या हैं तो इस रेमेडी से आपको काफी फायदा मिलेगा इसके साथ ही ये आपके चेहरे के रंग को निखारने में बहुत अच्छा काम करती हैं एक बहुत अच्छे डी-टेन (de-tan) एजेंट की तरह काम करती हैं मतलब अगर टैनिंग (tanning) आपकी स्किन पर हो गयी हैं तो उसे निकालने में बहुत मददगार होगी। चेहरे के पिगमेंटेशन (pigmentation) और दाग-धब्बो (dark-spots) को निकालने में बहुत इफेक्टिव होती हैं।

    मसूर दाल का आटा (Red lentil flour)-

    मसूर दाल आटा

    मसूर दाल (Red lentil) हमेशा से ही स्किन को टाइट (tight) करने के लिए बेस्ट मानी जाती हैं। ये आपकी स्किन को डीपली डीटॉक्सिफाय (detoxify) करती हैं, पोर्स (pores) को बहुत अच्छे से क्लीन करती हैं रिजल्टेंट आपके पोर्स टाइट होते हैं और स्किन टाइट दिखती हैं। अगर पिम्पल्स आपकी स्किन पर हो रहे हैं या बहुत ज्यादा स्किन ऑयली (oily skin) हैं तो उस समस्या से आपको छुटकारा मिलता हैं और अगर किसी तरह के दाग-धब्ब्बे (stains) आपकी स्किन पर हैं पिगमेंटेशन (pigmentation) की समस्या आपको हैं तो उसको भी दूर करने में ये बहुत अच्छा काम करता हैं।

    गुलाब की पंखुड़ियों का पेस्ट-

    गुलाब की पंखुडियों का पेस्ट

    जब भी बात की जाती हैं स्किन को टोन करने की, रंग को निखारने की तो नाम गुलाब की पंखुड़ियों का आता हैं। गुलाब की पंखुड़ियाँ भी एक बहुत अच्छी एंटी-एजिंग इंग्रीडिएंट मानी जाती हैं। ये आपके चेहरे से झुर्रियों और फाइन लाइन्स को तो ख़त्म करती ही हैं साथ में ये रंग निखारने में बहुत ज्यादा फायदेमंद होती हैं इनमे नैचुरली जो शुगर गोटी हैं जो अल्फा हायड्रोक्सी एसिड होता हैं वो आपकी स्किन से डेड स्किन को निकालता हैं और रिजल्टेंट आपको बहुत ही स्मूथ, ग्लोइंग और सपल स्किन मिलती हैं।

    तो चलिए जानते हैं इस डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) को बनाने के लिए आपको सभी चीज़ो की मात्रा कितनी चाहिए:

    1 चम्मच नीम की पत्तियों का पेस्ट

    1 चम्मच मुल्तानी मिटटी

    1 चम्मच कॉफ़ी पाउडर                                        

    1 मसूर दाल आटा

    1 गुलाब की पंखुड़ियों का पेस्ट

    अब इन सभी चीज़ो को आपस में मिला ले और पेस्ट बनाने के लिए और इसकी कंसिस्टेंसी ऐसी रखने के लिए जिससे की ये आपकी त्वचा पर आसानी से लग जाए इसमें आप अगर आपकी स्किन ड्राई हैं तो आप इसमें दूध (milk) मिला सकते हैं और अगर आपकी स्किन ऑयली हैं तो इसमें गुलाबजल (rosewater) मिला सकते है और दूध या गुलाबजल आपको इसमें इतना मिलाना है जिससे की ये आपके चेहरे पर लगाने लायक बन जाए और अच्छी तरह से आपके चेहरे और गर्दन पर लग जाए अब ये आपकी डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) बनकर बिलकुल तैयार हैं।

    उपयोग करने की विधि-

    सबसे पहले अपने चेहरे को साफ़ पानी से धो ले। इसके बाद अपने चेहरे और गर्दन पर पेस्ट को अच्छी तरह से लगा ले और कम से कम 30 मिनट के लिए ऐसे ही लगा रहने दे इसके बाद हलके गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो ले और आप जो भी मॉइस्चराइजर (moisturiser) इस्तेमाल करते हैं वो लगा ले और आप देखेंगे कुछ ही दिनों के रेगुलर इस्तेमाल से आपके चेहरे के पिम्पल्स (Pimples) कम हो जायगे, ब्लैकहेड्स (blackheads) कम हो जायगे और धीरे-धीरे पूरी तरह से ख़त्म हो जायगे। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) को आप हफ्ते में 3 से 4 बार इस्तेमाल कर सकते हैं। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) को आप फ्रीज में 8 दिनों तक स्टोर कर सकते हैं। इस डीटॉक्सीफाईंग पैक (Detoxifying pack) के रेगुलर इस्तेमाल से आपकी स्किन साफ़, सुन्दर, चिकनी और गोरी बनेगी।

    By Caring You Online

    "Caring You Online" is a platform, where you can find all the information related to health, beauty, and personal care. All the content on this website is written and reviewed by a team of health care professionals.

    Leave a Reply