Tue. Sep 28th, 2021
    imli today epidose

    आज के धमाकेदार एपिसोड में आप देखेंगे कि इमली और जुगनू दोनों एक दुसरे पर बन्दूक ताने खड़े हैं, जिसमें आदित्य जुगनू की गन के निशाने पर है तो इमली जुगनू पर निशाना लगाए हुए है।

    Advertisements

    आदित्य इमली को बार-बार, गन चलाकर जुगनू को मारने के लिए कहता है, और इमली जुगनू से कहती है, कि वो आदित्य को छोड़ दे, नहीं तो वो गोली चला देगी। आदित्य ने इमली से न डरने के लिए कहा, और उसे बंदूक चलाने के लिए कहा। सत्यकाम भी गन फायर करने के लिए चिल्लाया, और कहा कि वह उसकी बेटी है। और इसी गरमा-गर्मी में इमली जुगनू के पैर पर गोली चला देती है, और आदित्य को बचाने के लिए दौड़ती है। पुलिस उनकी मदद करती है। इमली पूरी बहादुरी से आतंकवादी के सामने खड़ी रही। पुलिस ने आतंकी को पकड़ लिया । सत्यकाम खुश हो जाता है। इमली और आदित्य एक दूसरे को गले लगाते हैं, और कुछ इमोशनल मूमेंट शेयर करते हैं। आदित्य इमली को माथे पर किस भी करता है।

    यहाँ मालिनी को मंत्री का फोन आता है, जहां उन्हें खबर मिलती है कि आदित्य का बचाव सफल रहा, और कहा कि आदित्य ठीक है। हर कोई खुश हो जाता है। अपर्णा ने मंत्री के घर जाने का श्रेय मालिनी को दिया। मालिनी ने अनु को फोन किया और खबर के बारे में बताया। अनु ने कहा कि उन्हें उनका शुक्रिया अदा करना चाहिए। अनु मालिनी को घर आने के लिए कहती है, लेकिन मालिनी कहती है कि वह बाद में आएगी। सभी ने मालिनी को उसके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया।

    मीडिया सदन के अंदर आता है। उन्हें देखकर हर कोई हैरान हो जाता है। अनु ने अंदर आकर कहा कि सब उसके बेटे के लिए खुश हैं। अनु ने मीडिया के सामने मालिनी को दिखाने की कोशिश की। अपर्णा कहती है कि अनु सही है और उन्हें मालिनी के बारे में बताया। कुणाल ने मालिनी को फोन किया और आदित्य की वापसी के लिए बधाई दी।

    आदित्य घर आता है और उन सभी लोगों को धन्यवाद देता है जिन्होंने उसे बचाने में मदद की। आदित्य ने उन्हें उस विशेष व्यक्ति के बारे में बताया जिसने उनकी कठिन परिस्थिति में मदद की, और कहा कि वह कोई और नहीं, इमली ही है जो उसे बचाने के लिए बहुत बहादुरी से आतंकियों से लड़ी। आदित्य ने मीडिया के सामने इमली को पत्नी के रूप में पेश किया। आदित्य ने कहा कि, वह इमली की वजह से आतंकियों के चंगुल से बाहर आ पाया है। अनु कहती है कि वह ऐसा क्यों कह रहा है, और कहा कि मालिनी ने उसके लिए सब कुछ किया। मालिनी को खुद के लिए बहुत बुरा लगता है।

    पुलिस ने इमली की वीरतापूर्ण हरकत को बताया, और बताया कि इमली आतंकियों के सामने खड़ी थी, आतंकवादियों को पकड़ने में उनकी मदद भी की। मीडिया इमली से पूछती है कि उसने ये सब कुछ कैसे सीखा। इमली ने कहा कि उसने सत्यकाम से सब कुछ सीखा है। मीडिया ने इमली से पूछा कि त्रिपाठी को उन पर गर्व होना चाहिए। पंकज ने कहा कि उन्हें उस पर गर्व है। अनु वहां से मालिनी को ले जाती है। आदित्य कहता है कि वह उससे बाद में बात करेगा, लेकिन अनु का कहना है कि उसने मालिनी के सात साल बर्बाद कर दिए और उसे उससे दूर रहने के लिए कहा।

    अपर्णा आदित्य को घायल देखकर बहुत भावुक हो जाती है। राधा और पल्लवी उसके लिए दवा लेने जाते हैं। अपर्णा कहती हैं कि आदित्य को चोट लगने पर दर्द उसे होता है। आदित्य ने उसे इमली को स्वीकार करने के लिए कहा, और कहा कि उसने कुछ भी नाटक नहीं किया। अपर्णा कहती है कि, उसे सिर्फ इमली दिखाई दे रही है, और कहा कि वह मालिनी का श्रेय ले रही है। अपर्णा सत्यकाम को भी ताना मारती है। इमली हैरान हो जाती है।

    By Caring You Online

    "Caring You Online" is a platform, where you can find all the information related to health, beauty, and personal care. All the content on this website is written and reviewed by a team of health care professionals.

    Leave a Reply